Follow Us

हिंदी न्यूज़ – 3 हजार से ज्यादा शवों की पुलिस आज तक नहीं कर पाई शिनाख्त – Uttarakhand police didn’t Identify three thousand dead bodies.


उत्तराखंड में हजारों लोग मरने के बाद भी पहचान का इंतजार कर रहे हैं. आंकड़ों के मुताबिक राज्य गठन से अब तक तीन हजार से ज्यादा लावारिस शव मिल चुके हैं, लेकिन इन शवों को कोई पहचान नहीं हो सकी.

उत्तराखंड को बने हुए करीब 18 साल हो चुके हैं. इस 18 सालों में प्रदेश में 3 हजार 3 सौ 61 लावारिस शव मिले हैं. इन शवों को पुलिस आज तक शिनाख्त नहीं कर सकी है. हालांकि पुलिस ने लावारिश शवों के मामले जरूर दर्ज किए हैं. उत्तराखंड में सबसे ज्यादा हरिद्वार जिले मे 927 लावारिस शव मिले हैं. जोनल इंटीग्रेटेड पुलिस नेटवर्क के आंकड़ों को देखे तो उत्तराखंड में तीन हजार से ज्यादा शव मिले हैं.

दरअसल, जोनल इंटीग्रेटेड  पुलिस नेटवर्क उत्तर भारत के सात राज्यों का एक नेटवर्क है, जिसमें सभी सात राज्यों में घटित अपराध से जुड़ी सारी जानकारियां साझा की जाती है. इस नेटवर्क में उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, पंजाब, चंडीगढ़, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश शामिल है.

जोनल इंटीग्रेटेड  पुलिस नेटवर्क के आंकड़ों के अनुसार उत्तराखंड के देहरादून में 596, अल्मोड़ा में 22, बागेश्वर में 8, हरिद्वार में 927, रुद्रप्रयाग में 599, उत्तरकाशी में 49, टिहरी में 132, पिथौरागढ़ में 9, पौड़ी गढ़वाल में 250, ऊधमसिंह नगर में 49, नैनीताल में 372, चमोली में 44 और चंपावत में करीब 107 लावारिस शव मिले हैं.प्रदेश में मिलने वाले लावारिस शव उत्तराखंड पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है. उत्तराखंड पुलिस के अपर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि लावारिस शवों के मिलने पर पुलिस कानूनी सभी प्रक्रिया पूरी करती है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड पर्यटन प्रदेश होने के नाते भी लावारिस शवों के मिलने का कारण है, लेकिन जब एक तय समय के बाद कोई नहीं मिलता को पुलिस शव का संस्कार कर देती है.

(देहरादून से किशोर रावत)





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – 3 हजार से ज्यादा शवों की पुलिस आज तक नहीं कर पाई शिनाख्त – Uttarakhand police didn’t Identify three thousand dead bodies. appeared first on OSI Hindi News.



from Om Shree Infotech https://ift.tt/2wKGaPH
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment

 
Copyright © 2013. News World - All Rights Reserved
Template Created by ThemeXpose | Published By Gooyaabi Templates