Most Popular

Friday, September 28, 2018

हिंदी न्यूज़ – center release 122 crore rupees for rain disaster relief work in himachal


आफत की बारिश-बर्फबारी : हिमाचल को केंद्र ने जारी किए 122 करोड़ रुपये
सांकेतिक तस्वीर.
News18 Himachal Pradesh

Updated: September 28, 2018, 2:04 PM IST

21 से 23 सितंबर तक हुई भारी बारिश और बर्फबारी के चलते हिमाचल प्रदेश को जानमाल का भारी नुकसान हुआ है. इसकी भरपाई के लिए केंद्र सरकार की ओर से अब 122 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं.

केंद्र सरकार ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत व बचाव कार्यों के लिए पहली किस्त जारी की है. गुरुवार को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएम जयराम ठाकुर से फोन पर बातचीत कर बचाव कार्यों की जानकारी ली थी. इस दौरान प्रधानमंत्री सीएम को जानकारी दी कि फिलहाल 122 करोड़ प्रदेश को जारी किए गए हैं.

हिमाचल को मॉनसून सीजन में अब तक 1479 करोड़ नुकसान
इस मॉनसून सीजन में हिमाचल प्रदेश को अब तक 1479 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ. इसके अलावा, 300 से ज्यादा लोगों की जान भी गई है. इनमें सड़क हादसे भी शामिल हैं. बता दें कि 21 से 23 सितंबर तक तीन में हुए नुकसान को लेकर सीएम जयराम ठाकुर ने केंद्र सरकार से 200 करोड़ की मांग की थी. अब केंद्र ने 122 करोड़ रुपये जारी किए हैं. बारिश से सबसे ज्यादा नुकसान हिमाचल की सड़कों को पहुंचा है. जगह-जगह लैंडस्लाइड के चलते भारी क्षति हुई है.

मनाली से विधायक और मंत्री बोले-कुल्लू को 200 करोड़ से ज्यादा का नुकसान
कुल्लू के मनाली से विधायक और मौजूदा सरकार में मंत्री गोविंद ठाकुर का कहना है कि अकेले कुल्लू को इस त्रासदी से दो सौ करोड़ से ज्यादा रुपये का नुकसान हुआ है. उनका कहना है कि सरकार पुनर्वास को लेकर प्रयासरत है.

उनका मानना है कि इस आपदा की वजह से टूरिज्म इंडस्ट्री पर खासा असर हुआ है, क्योंकि सड़कों को काफी नुकसान पहुंचा है. कुल्लू को दोबारा पटरी पर लाना चुनौती है और इसके लिए वह दिन रात एक किए हुए हैं. सरकार की ओर कुल्लू जिले को दोबारा पटरी पर लाने के लिए 30 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं.

और भी देखें

Updated: September 28, 2018 01:30 PM ISTVIDEO: होमगार्ड के दो जवानों ने चोरी किया कबाड़, सीसीटीवी फुटेज में दर्ज हुई घटना





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – center release 122 crore rupees for rain disaster relief work in himachal appeared first on OSI Hindi News.



0 comments:

Post a Comment