Most Popular

Saturday, September 29, 2018

हिंदी न्यूज़ – Militancy Takes Fresh Roots in Erstwhile Hotbed in North Kashmir-उत्तर कश्मीर में जड़ें जमा रहा है आतंकवाद, युवाओं को बहका रहे हैं आतंकी


(आकाश हसन)

उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिला स्थित लांगेट निवासी फुरकान रशीद पढ़ने में बहुत ही अच्छा था. रशीद, डॉक्टर बनना चाहता था. हर सुबह वह ट्यूशन के लिए निकलता, स्कूल जाता और फिर समय से वापस घर आ जाता. रशीद, हंदवाड़ा स्थित एक सरकारी हायर सेकेंड्री स्कूल में पढ़ाई करता था जो उसके घर से पांच किलोमीटर की दूरी पर था. रशीद फैशनेबल लड़का था और वह क्रिकेट भी खेलता था. 14 मई की सुबह वह ट्यूशन के लिए गया. वहां उसने क्लास अटेंड की जिसके बाद उसे स्कूल जाना था. हालांकि उसके दोस्तों ने कहा कि वह लौट कर ही नहीं आया.

शाम होते-होते, रशीद के पिता अब्दुल रशीद लोन परेशान हो गए और पड़ोस के बच्चे के पास गए जो उनके बेटे के क्लास में पढ़ते थे लेकिन किसी को कुछ नहीं पता था. पिता अब्दुल ने कहा, ‘ऐसा पहली बार हुआ कि मेरा बेटा घर नहीं आया. वह आज्ञाकारी लड़का था. मैंने सोचा कि वह किसी दोस्त के घर गया होगा और फोन ऑफ कर लिया होगा.’

जब वह अगले दिन भी नहीं आया तो परिजनों ने उसकी खोज शुरू की. उन्होंने कुछ दिन बाद शिकायत दर्ज कराई. उसके अचानक से गायब हो जाने के करीब एक हफ्ते बाद सोशल मीडिया पर फोटो वायरल हुई जिसमें रशीद असॉल्ट राइफल के साथ नजर आ रहा था. उस फोटो पर लिखा हुआ था कि वह लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हो गया था.यह भी पढ़ें:  कश्मीर घाटी में तैनात SPO के वेतन में बढ़ोतरी, जल्द लागू होगा नया वेतनमान

पेशे से किसान रशीद के पिता अब्दुल ने कहा, ‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि वह ऐसा कदम उठा लेगा.’ रशीद के एस दोस्त ने बताया कि वह अपने एक आतंकी अंकल की बात करता था. उनकी बड़ाई करता था लेकिन हमने कभी नहीं सोचा कि वह भी इस रास्ते पर चल देगा.

लश्कर में शामिल होने के चार महीन बाद 11 सितंबर को रशीद सुरक्षाबलों से मुठभेड़ के दौरान मार दिया गया.

दो दिन का आतंकी!

अब्दुल रशीद के घर से दो सौ मीटर की दूरी पर मीर परिवार रहता है. 6 अगस्त को 23 वर्षीय मुजफ्फर अहमद मीर घर से कुछ सामान लेने के लिए बाहर गया. एक हफ्ते पहले ही उसकी बहन की शादी हुई थी और परंपरा के मुताबिक उसे अब वापस घर आना था लेकिन मुजफ्फर उस शाम घर नहीं लौटा. उसके अगले दिन मुजफ्फर  के पिता बशीर अहमद मीर ने गायब होने की रिपोर्ट दर्ज करा दी. तीन दिन बाद नौ अगस्त को सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में एक आतंकी मार गिराय गया.

उसके बाद किसी ने बशीर के घर पर एक संदेशा छोड़ा कि उनका मारे गए पांच आतंकियों में से एक है. बशीर से कहा गया कि वह फोटो लेकर आए और शवों की शिनाख्त करे. इसके बाद डीएनए सैंपल मैच हुआ फिर पता चला कि मारे गए आतंकियों में से एक मुजफ्फर ही है.

इस साल एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू और कश्मीर और इंटेलीजेंस के वरिष्ठ अधिकारी हालिया घटनाओं से बहुत ही परेशान हैं. इंटेलिजेंस के कुछ हालिया इनपुट्स की मानें तो आतंकियों के लिए घाटी का उत्तरी इलाका बड़ा टार्गेट हो सकता है

यह भी पढ़ें:  पत्थरबाजों को सबक सिखाने के लिए CRPF का महिला कमांडो दस्ता तैयार

(लेखक स्वतंत्र पत्रकार हैं)





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – Militancy Takes Fresh Roots in Erstwhile Hotbed in North Kashmir-उत्तर कश्मीर में जड़ें जमा रहा है आतंकवाद, युवाओं को बहका रहे हैं आतंकी appeared first on OSI Hindi News.



0 comments:

Post a Comment