Most Popular

Friday, September 28, 2018

हिंदी न्यूज़ – There is a large number of soldiers and former soldiers in Rajasthan राजस्थान में बड़ी तादाद में है सैनिक व पूर्व सैनिक


सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी सालगिरह, जोधपुर में समारोह के सियासी मायने
सांकेतिक तस्वीर।
Goverdhan Chaudhary

Goverdhan Chaudhary

| News18 Rajasthan

Updated: September 28, 2018, 3:33 PM IST

सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी सालगिरह पर राजस्थान की सियासी फिजां गरमाई हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जोधपुर में कोर कमांडर्स की बैठक करने के साथ ही सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी सालगिरह पर सैनिकों के शौर्य को नमन भी किया.

सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी सालगिरह जोधपुर में मनाने के पीछे सियासी वजह को जिम्मेदार बताया जा रहा है. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले इस बड़े आयोजन की सियासी हलकों में भी जबर्दस्त चर्चाएं हैं. राजस्थान में सैनिकों की बड़ी तादाद है. चाहे करगिल युद्ध हो या कश्मीर ऑपरेशन. नक्सली इलाकों में ऑपरेशन हो या अन्य कोई युद्ध. राजस्थान के सैनिकों ने शौर्य दिखाने के साथ कुर्बानियां दी हैं. मारवाड़ और शेखावाटी ​के तो लगभग हर गांव में शहीद सैनिकों के स्मारक इस बात की गवाही देते हैं कि यहां के लोगों में सैनिकों के प्रति कितना सम्मान है. सैनिकों के प्रति राजस्थान में गहरा सम्मान है और इससे राष्ट्रवाद की भावना जुड़ी है. विधानसभा चुनाव में राष्ट्रवाद का मुद्दा उभारकर एंटी इंकंबेंसी का प्रभाव कम करने की कवायद से भी इसे जोड़कर देखा जा रहा है.

यह भी पढ़ें: LIVE: सर्जिकल स्ट्राइक के 2 साल, पीएम मोदी ने आर्मी एक्ज़िबिशन ‘पराक्रम पर्व’ का किया उद्घाटन

करीब एक करोड़ वोट हैंसैनिकों की बड़ी तादाद राजनीतिक दलों के लिए खास मायने रखती है. सैनिकों और सैनिक परिवारों के वोटों की गिनती की जाए तो आंकड़ा एक करोड़ के आसपास पहुंचता है. राजस्थान में सैनिक व पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों के वोटों के बिना कोई पार्टी चुनाव नहीं जीत सकती. राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह को जोधपुर में मनाने के पीछे सियासी गणित जिम्मेदार हैं.

चार अक्टूबर को सीकर में होगा पूर्व सैनिक सम्मेलन
सैनिक परिवारों को अपने पक्ष में करने के लिए बीजेपी चार अक्टूबर को सीकर में पूर्व सैनिक सम्मेलन करने जा रही है. इस सम्मेलन में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी रहेंगे. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हुए इस आयोजन और आगामी सम्मेलन का सैनिक परिवारों पर कितना असर पड़ता है यह तो चुनाव परिणाम तय करेंगे, लेकिन इस आयोजन की चर्चा जरूर है.

और भी देखें

Updated: September 28, 2018 02:57 PM ISTCM वसुंधरा का विपक्ष पर हमला, कांग्रेस को बताया ‘छपास रोग’





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – There is a large number of soldiers and former soldiers in Rajasthan राजस्थान में बड़ी तादाद में है सैनिक व पूर्व सैनिक appeared first on OSI Hindi News.



0 comments:

Post a Comment