Follow Us

हिंदी न्यूज़ – बीजेपी की महिला नेता को झूठे केस में फंसाने का निर्देश दे रहा था TMC नेता, वीडियो वायरल-TMC Leader Anubrata Mondal in Conservatory Once Again


तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अनुब्रत मंडल पार्टी के एक बागी नेता और बीजेपी की एक महिला नेता को गांजा रखने के झूठे आरोप में फंसाकर गिरफ्तार करवाने का निर्देश अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को देकर फिर से विवादों में घिर गए हैं. मंडल की यह पूरी बातचीत कथित रूप से एक वीडियो में रिकार्ड हो गयी है.

बीरभूम जिले में तृणमूल कांग्रेस के अध्यक्ष मंडल पड़ोसी जिले बर्द्धवान के आयूषग्राम विधानसभा क्षेत्र में रविवार को एक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे. यह तथा-कथित वीडियो इसी बैठक की है. मंडल पूर्वी बर्द्धवान जिले की तीन विधानसभा सीटों मंगलकोट, आयूषग्राम और केतुग्राम के पार्टी पर्यवेक्षक हैं.

रविवार की रात वायरल होने वाले वीडियो के कारण प्रदेश में राजनीतिक भूचाल आ गया है. विपक्ष इसे लेकर तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगा रहा है कि पार्टी अपना राजनीतिक बैर साधने के लिए ऐसा कर रही है.

अवैध रूप से मादक पदार्थ रखने के मामले में एक किलोग्राम गांजा रखने के दोष में एक व्यक्ति को न्यूनतम छह माह की जबकि उससे ज्यादा मात्रा में गांजा रखने पर व्यक्ति को अधिकतम 20 साल कैद की सजा हो सकती है.वीडियो क्लिप के अनुसार मंडल पार्टी कार्यकर्ताओं को निर्देश दे रहे हैं, जिस व्यक्ति को हमने पांच सदस्यीय समिति से बाहर निकाला है उसे गिरफ्तार कराएं. उस महिला को भी मोटी महिला. कपड़ों के दुकान की मालिक महिला को भी गिरफ्तार कराएं. वह बीजेपी कार्यकर्ता है. क्या आप उसे नियंत्रित कर सकते हैं? बताएं कि क्या आप उसे नियंत्रित कर सकते हैं, वरना हम उन्हें गांजा रखने के आरोप में गिरफ्तार करवा कर जेल भिजवा देंगे.’’

ये भी पढ़ें: बंगाल में इस तरह बढ़ रहा है भाजपा का दायरा,  संघ कर रहा है पूरी मदद

इस बैठक में राज्य के कृषि मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के नेता आशीष बंदोपाध्याय भी उपस्थित थे. इस वीडियो क्लिप में जिस पांच सदस्यीय समिति का जिक्र किया गया है, वह विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों की निगरानी के लिए तृणमूल कांग्रेस द्वारा गठित समिति है.

मंडल की धमकी पर प्रतिक्रिया देते हुए आयूषग्राम से बीजेपी नेता संगीता चक्रवर्ती ने कहा कि वीडिया क्लिप से साबित होता है कि तृणमूल कांग्रेस कैसे राजनीतिक हित साधने के लिए पुलिस का इस्तेमाल करती है.

उन्होंने सवाल किया, तृणमूल कांग्रेस के शासन काल में इसी तरह से राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को जेल भिजवाया जाता है. गांजा मामले से उनका क्या मतलब है? इसका मतलब यह है कि विपक्षी दलों के सभी नेताओं के खिलाफ गांजा के मामले फर्जी हैं?

मंडल के वीडियो पर प्रतिक्रिया मांगने पर तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि उन्होंने वीडियो नहीं देखा है, इसलिए वह टिप्पणी नहीं कर सकते हैं. बीरभूम जिले में तृणमूल कांग्रेस के उपाध्यक्ष अविजित सिन्हा ने कहा कि मंडल और पार्टी को बदनाम करने के लिए यह फर्जी वीडियो बनाया गया है.

सिन्हा ने कहा, हमें लगता है कि जो वीडियो वायरल हुआ है, वह फर्जी है. यह पार्टी की छवि धूमिल करने के लिए किया गया है. मंडल इससे पहले भी ऐसे ही बयानों को लेकर विवाद में रहे हैं.

ये भी पढ़ें: OPINION: अमित शाह की ‘बहुसंख्यक’ अपील के खिलाफ ममता ने भरा ‘बंगाली’ का दम





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – बीजेपी की महिला नेता को झूठे केस में फंसाने का निर्देश दे रहा था TMC नेता, वीडियो वायरल-TMC Leader Anubrata Mondal in Conservatory Once Again appeared first on OSI Hindi News.



from Om Shree Infotech https://ift.tt/2wDVduC
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment

 
Copyright © 2013. News World - All Rights Reserved
Template Created by ThemeXpose | Published By Gooyaabi Templates