हिंदी न्यूज़ – उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट: 19 साल के जुड़वा भाई IDEAX कंपनी के ज़रिए 104 करोड़ के प्रोजेक्ट पर करेंगे काम-meet IDEAX Solution ceo and young entrepreneur yashraj and yuvraj bhardwaj


Bikram Singh

Bikram Singh

Updated: October 7, 2018, 8:25 PM IST

सफ़लता से उम्र का कोई लेना-देना नहीं है. जो व्यक्ति जिस उम्र में मेहनत करेगा वो सफ़लता ज़रूर हासिल करेगा. सफ़लता का मूल मंत्र ‘मेहनत’ है. यशराज और युवराज भारद्वाज इसके साक्षात उदाहरण हैं.  19 साल की उम्र में इन दोनों भाइयों ने कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं. उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट में दोनों आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. इस कार्यक्रम में इनकी कंपनी IDEAX Solution और उत्तराखंड सरकार के बीच 104 करोड़ रुपए का करार हुआ है. ये प्रोजेक्ट आम लोगों के जीवन-स्तर के सुधार के लिए है. IDEAX Solution सरकार के साथ मिलकर लोगों की बेहतरी के लिए काम करेगा. ये समिट उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में हो रहा है. इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने भी शिरकत की.

‘पद्मश्री’ से सम्मानित होंगे दोनों भाई

यूं तो देश में कई  Teenprenuers हैं, मगर यशराज और युवराज सबसे अलग हैं. बचपन से ही दोनों भाई विज्ञान की मदद से भारत और दुनिया की समस्याओं को ख़त्म करना चाहते हैं. इसके लिए इन्होंने कई शोध किए और ये दिन-प्रतिदिन जारी है. इनकी मेहनत को देखते हुए सरकार ने इन्हें ‘पद्मश्री’ देने का फ़ैसला किया है.ये हैं खासियतें

इनकी ख़ासियत है कि ये बिना डिग्री के रिसर्च करते हैं और लोगों को भी प्रेरित करते हैं. जिस उम्र में बच्चे कार्टून देखा करते हैं, उस उम्र में दोनों भाइयों ने कंप्यूटर और साइंस से दोस्ती कर ली. दोस्ती भी इतनी पक्की कर ली कि पूरी दुनिया में अपना परचम फहरा रहे हैं. आइए जानते हैं इनके बारे में.

बचपन से ही अलग थे दोनों भाई

आपको जानकर हैरानी होगी, मगर ये सच है. महज़ 7 साल की उम्र से दोनों भाइयों ने रिसर्च शुरु किया था. 17 साल की उम्र में वो 22 रिसर्च पेपर पर काम कर चुके हैं, साथ ही अपनी 7 रिसर्च का वो पेटेंट करवा चुके हैं. 19 साल की उम्र में  IDEAX Solution नाम की अंतरराष्ट्रीय कंपनी भी खोल ली. इस कंपनी का हेड ऑफिस दुबई में है.

IDEAX Solution के ज़रिए समस्याओं को सुलझाते हैं

यशराज और युवराज की कहानी पढ़ने को बाद आपको लगेगा जैसे कोई सपना देख रहे हैं. ये वाकई वैसे ही लगता भी है. IDEAX Solution के ज़रिए कई कंपनियों को और सरकार को आने वाली समस्याओं के बार में बताते हैं. भविष्य में होने वाली चुनौतियों को सुलझाने में मदद करते हैं.

 

दोनों भाई का सपना- बिना डिग्री के रिसर्च और बिना डिग्री के शिक्षा 

यशराज और युवराज का बचपन से मानना है कि रिसर्च के लिए डिग्री की कोई ज़रूरत नहीं है. किसी भी उम्र के लोग, किसी भी क्षेत्र में रिसर्च कर सकते हैं. अपनी कंपनी के माध्यम से ये उन लोगों को रिसर्च करने का मौका देते हैं, जिनके पास आइडिया तो है, मगर संसाधन नहीं है.

पूरे देश को स्वच्छ और स्वस्थ बनाना चाहते हैं

Bajra Purifier 

 पानी को साफ़ करना एक चुनौती है. शहरों में लोग RO Purifier के ज़रिए साफ़ पानी पी लेते हैं, मगर गांव में लोगों के पास इतने पैसे नहीं है कि अपने लिए कोई प्यूरिफायर ख़रीद सके. ऐसे में दोनों भाइयों ने  बाजरे का प्यूरिफायर खोज लिया. इसकी मदद से पानी को शुद्ध किया जा सकता है. बाजरे की  मदद से रासायनिक और ज़हरीले तत्वों को पानी से दूर किया जा सकता है. ये खोज वास्तव में पूरे देश के लिए  अद्भुत है.

अपनी इस खोज पर यशराज बताते हैं कि इस खोज के पीछे उनका मक़सद देश के ग्रामीणों को स्वच्छ और साफ़ पानी उपलब्ध कराना है, ताकि लोगों को किसी भी प्रकार की समस्याओं का सामना नहीं करना पड़े.

All In One Medical Assistance Machine

मानव शरीर में कई समस्याएं होती हैं, कई बीमारियां पाई जाती हैं. इसके लिए हमें अलग-अलग टेस्ट करवाना होता है. इसी समस्या को सुलझाने के लिए यशराज और युवराज बंधुओं ने अनोखी डिवाइस की खोज की. विज्ञान के शब्दों में इसे All In One Medical Assistance Machine कहते हैं . दरअसल, ये एक ऐसा पोर्टेबल डिवाइस है, जिसकी मदद से इंसान की सभी शारीरिक जांच एक साथ की जा सकती हैं. अगर ये प्रोग्राम सफ़ल हो गया, तो ग्रामीण क्षेत्र में रह रहे नागरिकों को काफ़ी लाभ मिलेगा.

Brain Controlled Drone

विज्ञान के दौर में आज हर काम ड्रोन के ज़रिए किया जा रहा है. मगर, यशराज और युवराज का ड्रोन प्रोजेक्ट बहुत ही ख़ास है. क्योंकि अब आपके दिमाग से ड्रोन चलेगा. इस प्रोजेक्ट की मदद से शारीरिक रूप से असक्षम लोगों को काफी मदद मिलेगी. वो कमरे का पंखा, टीवी, लैपटॉप और गाड़ी तक भी अपने दिमाग से कंट्रोल कर सकते हैं. इस खोज से दिव्यांगों को काफी राहत मिलेगी.

यशराज और युवराज पूरे देश में पर्यावरण, स्वास्थ, स्वच्छता और ग्रामीण स्तर को बेहतर बनाने के लिए प्रयासरत हैं. इसके लिए वो देश के सभी क्षेत्रों में जाकर देशवासियों को जागरुक कर रहे हैं. इसमें देश के युवाओं को अपने साथ मौका भी दे रहे हैं. इनो-टुअर (Inno-Tour) एक ऐसी ही कोशिश है.

इनकी शुरुआत भी काफ़ी दिलचस्प है. अपनी मेहनत पर दोनों भाई कहते हैं कि हम समस्याओं को सुलझाने में विश्वास रखते हैं. देश में कई समस्याएं हैं जिनके सॉल्यूशन भी हैं. हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर समस्याओं को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं. भारत को हम एक अलग पहचान दिलवाएंगे.





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट: 19 साल के जुड़वा भाई IDEAX कंपनी के ज़रिए 104 करोड़ के प्रोजेक्ट पर करेंगे काम-meet IDEAX Solution ceo and young entrepreneur yashraj and yuvraj bhardwaj appeared first on OSI Hindi News.



Share:

Support