Popular Posts

Wednesday, October 10, 2018

हिंदी न्यूज़ – नए CJI रंजन गोगोई ने किया सुप्रीम कोर्ट में सकारात्मक परिवर्तन लाने का वायदा-‘We Would Have Heard All Cases Today Itself’: New CJI Rajnan Gogoi Promises Change


“अगर यह संभव होता तो हम आज ही सभी मामलों की सुनवाई कर चुके होते.”

भारत के नए प्रधान न्यायधीश रंजन गोगोई ने मंगलवार को वकीलों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने स्पष्ट किया कि वह सुप्रीम कोर्ट में प्रशासनिक स्तर पर सकारात्मक परिवर्तन लाने की दिशा में काम करेंगे.

जस्टिस गोगोई ने कहा, “मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं कि हम चीजों में बदलाव करने जा रहे हैं. प्रत्येक बदलाव में थोड़ा समय लगेगा. थोड़ा धैर्य रखिए और हमारे रजिस्ट्रार को थोड़ा वक्त दीजिए. हमें आप सभी के साथ निष्पक्ष होने दीजिए.”

सीजेआई ने कहा, “हम वादियों और वकीलों की चिंता को समझते हैं, हम सभी को समायोजित करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं.” बता दें कि वकीलों के एक समूह ने मामलों की जल्द सुनवाई की मांग की थी जिसके बाद सीजेआई ने यह टिप्पणी की थी. इसी के साथ जस्टिस गोगोई ने स्पष्ट किया कि अब मामलों को अपने आप लिस्ट से नहीं हटाया जाएगा, संबंधित वकील को जानकारी देने के बाद ही केस को लिस्ट से हटाया जाएगा.सुप्रीम कोर्ट में आने वाले केसों के सुनवाई के तरीके के बारे में पूर्ण कायापलट का संकेत देते हुए सीजेआई ने बताया कि मामलों की फाइलिंग और लिस्टिंग के बीच की समय सीमा को कम किया जाएगा ताकि वकीलों को नियमित मामलों में जल्दी सुनवाई के लिए उल्लेख करने की जरूरत न पड़े.

सीजेआई के तौर पर अपने पहले ही दिन गोगोई ने वकीलों को बताया कि बिना किसी उद्देश्य के मामलों पर जल्दी सुनवाई के लिए उल्लेख न करें. उन्होंने कहा कि ऐसा तभी किया जाए जब यह बहुत अधिक जरूरी हो- जैसे किसी को फांसी चढ़ाई जा रही हो या व्यक्ति को निष्कासित किया जा रहा हो.

ये भी पढ़ें: जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट की आजादी के लिए उठाई थी आवाज, ये है पूरा प्रोफाइल

इस सप्ताह सुप्रीम कोर्ट में दूसरा परिवर्तन आपराधिक मामलों की सुनवाई के तौर पर देखा गया.

आपराधिक मामलों की सुनवाई में तेजी लाने के लिए बुधवार को ज्यादातर अदालतों में नियमित सुनवाई के लिए पहले 10 मामले आपराधिक अपील से संबंधित हैं, ये मामले पिछले कई सालों से लंबित पड़े हैं. रोस्टर के अनुसार बेंचों के पास पहले 10 मामले आपराधिक अपील से संबंधित हैं.

सुप्रीम कोर्ट में नए सीजेआई की शुरुआत अच्छी और आशाजनक नजर आ रही है. लेकिन यह भी सच है कि गोगोई ऐसे पहले सीजेआई नहीं हैं जो प्रशासनिक सुधार पर जोर दे हे हैं. अब यह समय ही बताएगा कि अपने 13 महीने के कार्यकाल में वह अपने इमानदार प्रयासों में कितना सफल हो पाते हैं.

ये भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने एसएससी 2017 के रिजल्‍ट पर लगाई रोक





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – नए CJI रंजन गोगोई ने किया सुप्रीम कोर्ट में सकारात्मक परिवर्तन लाने का वायदा-‘We Would Have Heard All Cases Today Itself’: New CJI Rajnan Gogoi Promises Change appeared first on OSI Hindi News.



0 Comments:

Post a Comment