हिंदी न्यूज़ – Health Explainer: सेहत के लिए क्या बेहतर है- साबुत फल या फलों का जूस, जानें सही जवाब/benefits of eating whole fruit benefits of drinking fresh juice which one is better fruit or fruit juice khsb in hindi


सेहत के लिए क्या जरूरी और फायदेमंद है. फल या फलों का जूस? वैसे तो माना जाता है कि फलों के जूस के मुकाबले फल ज्यादा लाभकारी होते हैं. लेकिन ये पुख्ता तौर पर कहना ज़रा मुश्किल है. बेवक्त भूख लगने पर लोग फलों का जूस पीना पसंद करते हैं ये सोचकर कि इससे फायदा मिलेगा. फलों के जूस में फाइबर नहीं है तो ये आपके किसी काम का नहीं. सिर्फ पेट भर सकने लायक है. वहीं ताजा फलों में विटामिन-सी, मिनरल्स, मैग्नीशियम और पोटैशियम पाया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होता है. पाचन क्रिया को मजबूत बनाता है और मेटाबॉलिज्म तेज करता है. साथ ही इसमें पाए जाने वाला फाइबर लंबे समय तक पेट भरा रखते हैं.

ताजा फलों के जूस के फायदे
– फाइबर युक्त जूस खून साफ करता है. कोशिश करें घर पर ही फलों का जूस निकालकर पिएं.
- आसानी से पच जाता है, इसमें मौजूद पोषक तत्व आसानी से खून में घुल जाते हैं.– फलों के जूस में कैल्शियम, पोटैशियम और सिलिकॉन होता है जो शारीरिक कोशिकाओं का संतुलन बनाए रखते हैं.
- फलों का जूस एंटी-एजिंग की तरह काम करता है. इसे पीने से त्वचा पर चमक आती है.
- त्वचा और बालों के लिए फलों का जूस काफी लाभकारी होता है.
- कब्ज, पानी की कमी, दिल के रोग, गठिया, लिवर साफ करने में फलों का जूस मददगार है.
- इसमें मौजूद विटामिन और मिनरल पूरा दिन आपको एनर्जिटिक रखते हैं.

बिना फाइबर वाला या पैकेट जूस, नहीं होता स्वास्थ्य के लिए अच्छा
बिना फाइबर वाले या पैकेट जूस के कई नुकसान है. ऐसा बिल्कुल नहीं कि ये आपके लिए किसी भी तरह फायदेमंद है. जानिए बाजार का जूस पीने के नुकसान.
- शुगर और कैलोरी ज्यादा होती हैं. जिससे वजन बढ़ने और डायबिटीज़ का खतरा बढ़ता है.
- इसमें होती हैं 140 से 200 कैलोरी.
- पैकेट जूस में मिलाए जाते हैं प्रिजर्वेटिव.
- शुगर होने के कारण शरीर को एनर्जी तो मिलती है और भूख भी शांत होती है लेकिन जरूरी विटामिन्स नहीं मिल पाते हैं.
- फाइबर न या कम होने की वजह से बोतल बंद फलों का जूस स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है.
- नहीं होता इसमें नैचुरल फ्लेवर.

फल या फलों का जूस क्या है सही?
– दोनों में केवल एक फर्क होता है वो ये कि जूस से फाइबर निकल जाता है और फल और उसके छिलके में आपको भरपूर मात्रा में फाइबर मिलता है.
- आंतों को हेल्दी रखने के लिए फाइबर जरूरी होता है. दोनों में से अगर एक को चुना जाए तो फल खाना चुनें न कि जूस पीना.
- शुगर की मात्रा जूस में ज्यादा होती है और शरीर को पूरे न्यूट्रीयंट्स भी नहीं मिलते. शुगर, शरीर जल्दी सोखता है जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है. वहीं फलों में मौजूद शुगर, शरीर आराम से जरूरत पड़ने पर ही सोखता है.

बच्चों के लिए कितना फायदेमंद जूस
बच्चे ग्रोइंग स्टेज पर होते हैं कई बार मेटाबॉलिज्म धीमा होने के कारण फल पचा नहीं पाते. ऐसे में उन्हें घर पर फलों का जूस निकालकर दें. ध्यान रखिए उन्हें फाइबर के साथ जूस देना है जिससे शरीर के लिए जरूरतमंद सभी पोषक तत्वों की कमी पूरी हो.

खाली पेट फल खाने के नुकसान
कई बार खाली पेट फल खाने से एसिडिटी की समस्या पैदा हो सकती है. फल स्वाद में थोड़े खट्टे और एसिडिक होते हैं. ऐसे में गैस्ट्रिक, एसिडिटी, पेट में जलन जैसी समस्याएं हो सकती हैं.

साबुत फल के फायदे
– साबुत फलों में फाइबर पाया जाता है जो पाचन क्रिया को मजबूत करने का काम करता है.
- ब्लड शुगर नियंत्रित रखता है.
- कोलेस्ट्रॉल को कम करता है.
- पेट लंबे समय तक भरा रखता है.
- वजन घटाने में मदद करता है. वजन घटाने के लिए फाइबर की जरूरत होती है जो फलों से मिल जाता है.

खाना खाने से पहले खा सकते हैं फल
वजन घटाने पर ध्यान देने वाले लोग खाना खाने से आधा घंटा पहले फलों का सेवन कर सकते हैं. इसमें फाइबर होता है, लंबे समय तक पेट भरा रखता है. ऐसे में फाइबर, वजन घटाने में मदद करता है और आप खाना कम खाते हैं.

मीठा और ज्यादा नमक खाने की क्रेविंग खत्म होती है.

इसे भी पढ़ेंः
नारियल पानी में आखिर ऐसा होता क्या है, जो देता है सैकड़ों फायदे
मां नहीं बनने देती ये बीमारी, 17 करोड़ से ज्यादा औरतें हैं प्रभावित
महिलाओं के साथ क्या होता है, जब पीरियड्स बंद हो जाते हैं?

Health Explainer: थायरॉइड होने से पहले और बाद में, शरीर में होता क्या है?
Health Explainer: बात उस बीमारी की जिसमें महिलाओं के दाढ़ी उग जाती हैं





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – Health Explainer: सेहत के लिए क्या बेहतर है- साबुत फल या फलों का जूस, जानें सही जवाब/benefits of eating whole fruit benefits of drinking fresh juice which one is better fruit or fruit juice khsb in hindi appeared first on OSI Hindi News.



Share:

Support