हिंदी न्यूज़ – supreme court refused to hearing on sabrimala temple instant


सबरीमाला मंदिर मामलाः पुनर्विचार याचिका पर तुरंत सुनवाई करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार
सुप्रीम कोर्ट ने 28 सितंबर को 4:1 के बहुमत से दिए फैसले में कहा था कि मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी लगाना लैंगिक भेदभाव है
भाषा

Updated: October 9, 2018, 2:41 PM IST

सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश को अनुमति देने के उसके फैसले के खिलाफ दायर पुनर्विचार याचिका पर तत्काल सुनवाई से मंगलवार को इनकार कर दिया. चीफ जस्टिस न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस के कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की पीठ ने नेशनल अयप्पा डिवोटीज एसोसिएशन की अध्यक्ष शैलजा विजयन की दलील पर विचार किया.

विजयन ने अपने वकील मैथ्यूज जे नेदुम्पारा के माध्यम से दायर की याचिका में दलील दी कि पांच जजों की संविधान पीठ ने प्रतिबंध हटाने का जो फैसला दिया वह ‘‘पूरी तरह असमर्थनीय और तर्कहीन है.’’

ये भी पढ़ें: पीरियड्स नहीं बल्कि ये थी सबरीमाला मंदिर में महिलाओं पर रोक की वजह

तत्कालीन चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ ने 28 सितंबर को 4:1 के बहुमत से दिए फैसले में कहा था कि मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी लगाना लैंगिक भेदभाव है और यह परम्परा हिंदू महिलाओं के अधिकारों का उल्लंघन करती है.बता दें कि सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सोमवार को पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई थी. इस याचिका में कहा गया था कि 28 सितंबर को आया फैसला पूरी तरह से तर्कहीन है जिसका समर्थन नहीं किया जा सकता.

शैलजा की अोर से कहा गया था कि जिन लोगों ने महिलाओं के प्रवेश पर उम्र के प्रतिबंध को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई, वे भगवान अयप्‍पा के भक्‍त नहीं हैं और सुप्रीम कोर्ट के फैसले से मंदिर के प्रमुख देवता भगवान अयप्‍पा के लाखों भक्‍तों के मौलिक अधिकारों का हनन हुआ है.

ये भी पढ़ें: सबरीमाला मंदिर के द्वार 16 सितंबर को खुलेंगे

दरअसल, 28 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में केरल के सबरीमाला स्थित अय्यप्पा स्वामी मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं को प्रवेश की अनुमति दे दी थी.

और भी देखें

Updated: October 03, 2018 04:30 PM ISTजब नए CJI रंजन गोगोई ने रिटायर्ड जज मार्कंडेय काटजू से मंगवाई थी माफी





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – supreme court refused to hearing on sabrimala temple instant appeared first on OSI Hindi News.



Share:

Support