Popular Posts

Tuesday, October 9, 2018

हिंदी न्यूज़ – तीन हजार परिवार गंगा किनारे खुले में शौच करने के लिए हैं मजबूर – Three thousand families are compelled to open defecation on ganga river side.


तीन हजार परिवार गंगा किनारे खुले में शौच करने के लिए हैं मजबूर
बंद पड़े शौचालय
News18 Uttarakhand

Updated: October 9, 2018, 2:54 PM IST

स्वच्छता और खुले में शौच मुक्त भारत के लिए भले की केंद्र व राज्य सरकारों की दर्जनों योजनाएं संचालित हो, लेकिन तीर्थ नगरी ऋषिकेश में आज भी गंगा किनारे खुले में शौच के लिए करीब साढे तीन हजार परिवार विवश है.

ऋषिकेश के विश्व प्रसिद्ध त्रिवेणी घाट के ठीक ऊपरबसी मायाकुंड और चंद्रेश्वरनगर की बस्तियों में कच्चे घर होने के कारण शौचालय नहीं बने हैं वहीं नगर निगर और अन्य संस्थाओं द्वारा करीब आधा दर्जन सार्वजनिक शौचालय भी बनाएं गए हैं, जो कि सालों से बंद पड़े हैं. ऐसे में त्रिवेणी घाट में देश-विदेश के लाखों लोग गंगा जल का आचमन करते हैं उसके ठीक ऊपर बसी मायाकुंड और चंद्रेश्वर नगर की बस्तियों के करीब साढे तीन हजार लोग गंगा नदी के किनारे खुले में शौच करते हैं.

कच्ची बस्तियों में बसे ये लोग नगर निगम और अन्य विभागों द्वारा बनाएं गए आधा दर्जन सार्वजनिक शौचालयों पर ही शौच के लिए निर्भर है, लेकिन सफाईकर्मियों की व्यवस्था नहीं होने के कारण कोई शौचालय तो सालों से बंद तो तो कोई दो साल से मरम्मत नहीं होने के कारण जर्जर होकर टूटने के कगार पर खड़े हैं. जानकारी के बाद ऋषिकेश एसडीएम हरगिरी ने नगर निगम के अधिकारियों को जल्द से जल्द इन सभी शौचालयों को सुचारू करने के निर्देश दिए हैं.

(ऋषिकेश से शैलेन्द्र सिंह रावत की रिपोर्ट )यह भी पढ़ें-  उत्तराखंड में क्लीन गंगा मिशन और ओडीएफ पर कैग ने उठाए सवाल

यह भी पढ़ें-  अगले साल मार्च तक खुले में शौच से मुक्त हो सकता है उत्तराखंड

और भी देखें

Updated: October 09, 2018 02:41 PM ISTVIDEO: देहरादून से मसूरी के बीच चली पहली ई-बस, सीएम ने भी की सवारी





Source link

The post हिंदी न्यूज़ – तीन हजार परिवार गंगा किनारे खुले में शौच करने के लिए हैं मजबूर – Three thousand families are compelled to open defecation on ganga river side. appeared first on OSI Hindi News.



0 Comments:

Post a Comment